Ad Code

जानिये Alphabet in hindi यानी हिंदी में वर्णमाला के बारे में

Alphabet in hindi यानी हिंदी में वर्णमाला के बारे में आज बताने जा रहा हॅूं जैसे कि वर्ण किसे कहते है, अक्षर किसे कहते हैं, Hindi Alphabets हिंदी वर्णमाला में कुल alphabets कितने होते हैं । hindi में alphabets कितने प्रकार के होते है । अर्थात दूसरे शब्‍दों में कहे तो alphabet in hindi यानी हिंदी में वर्णमाला से संबंधित जो भी प्रश्‍न hindi alphabets से जानाता चाहते हैं उन सभी प्रश्‍नों का जवाब आपको यहां मिलने वाला है । आपको किसी और दूसरे वेबसाइट पर जाने की आवश्‍यता नहीं होगी । क्‍योंकि यहां alphabet in hindi, letter in hindi alphabet की पूरी जानकारी यहां आपको मिल जाएगा ।

alphabet-in-hind

हिंदी के बारे में संक्षिप्‍त जानकारी

हम सभी जानते हैं कि हिंदी हमारे स्वतंत्रता संग्राम से बहुत गहराई से जुडी हुई है । महात्मा गांधी के जन आंदोलन के साथ साथ हिंदी भी संपर्क भाषा के रूप में संपूर्ण भारत के दर दराज के इलाकों तक पहुंच गई उस समय विभिन्न राजनीतिक संगठनों धर्मो संप्रदायों के समाने केवल एक ही उद्देष्य था स्वतंत्रता की प्राप्ति । इस महान उद्देष्य के सामने भाषायी संकीर्णता तथा क्षेत्रीयता महत्वहीन हो गई थी ।

परंतु स्वतंत्रता प्राप्त होते ही जब संविधान निर्माताओं के समक्ष स्वतंत्र देष की एक राजभाषा का निर्णय करने का समय आया तो इस विषय पर कई मतभेद उभरकर सामने आने लगे ।

स्वतंत्र भारत के संविधान सभी की पहली बैठक 09 दिसंबर 1946 को हुई और लगातार दो-ढाई वर्ष तक संविधान निर्माण का कार्य चलता रहा ।

संविधान सभा में राजभाषा पर तीन दिन तक लम्बी बहस के पश्‍चात 14 सितंबर 1949 को स्वतंत्र भारत के संविधान में हिंदी को सर्वसम्मति से राजभाषा का स्थान दे दिया गया । संविधान के भाग 17 के अनुच्छेद 343 से 351 तक राजभाषा संबंधी विषेष प्रावधान दिए गए ।

भारत संघ की राजभाषा देवनागरी लिपी में हिंदी होगी । संघ के सरकारी कार्यों में अंको के अंतर्राष्ट्रीय रूपों का प्रयोग होगा ।

वर्तमान में हिंदी हमारी मातृभाषा व राजभाषा के साथ एक अंतर्राष्‍ट्रीय भाषा का रूप प्राप्‍त कर चुकी है । जिसे विभिन्‍न व्‍यंजनों स्‍वरों व उनकी मात्राओं के माध्‍यम से बोला लिखा व समक्षा जाता है । तो चलिए अब जानते मूल विषय Albhabates in hindi अर्थात हिंदी में वर्णमाला के बारे में :

जानिये Alphabet in hindi  यानी हिंदी वर्णमाला के बारे में 

वर्ण तथा अक्षर किसे कहते हैं?

स्‍वर व व्‍यंजन के बोले जाने वाले रूप को अक्षर कहते हैं जबकि इसके लिखित रूप को वर्ण कहा जाता है । दूसरे शब्‍दों में कहे तो अक्षर भाषा की सबसे छोटी इकाई है एवं वर्णमाला में इसे एकत्रित किये जाते हैं।

वर्णमाला किसे कहते हैं तथा कितने प्रकार के होते हैं ?


वर्णों की समूह को वर्णमाला कहते हैं । वर्णमाला में कुल वर्णों की संख्‍या 52 होती है ।

वर्ण मुख्‍यत: दो प्रकार के होते हैं ।

1. व्‍यंजन वर्ण 

2. स्‍वर वर्ण


व्‍यंजन वर्ण किसे कहते हैं तथा कितने प्रकार के होते हैं?

व्‍यंजन वर्ण वैसे वर्ण को कहते हैं जिसके उच्‍चारण करने के लिए स्‍वर वर्ण की सहायता लेनी पड़े । जैसे क, च, ट, प इत्‍यादि । जबकि व्‍यंजनों की समूह को हम व्‍यंजनमाला कहते हैं । व्‍यंजनमाला में कुल वर्णों की संख्‍या 39 होती है ।


व्‍यंजनमाला को मुख्‍यत: पांच समूहों में बांटा गया है । 

1. स्‍पर्श वर्ण व्‍यंजन

2. अंतस्‍थ वर्ण व्‍यंजन 

3. ऊष्‍म वर्ण व्‍यंजन 

4. संयुक्‍त वर्ण व्‍यंजन 

5. अतिरिक्‍त वर्ण व्‍यंजन 


स्‍पर्श वर्ण व्‍यंजन

कवर्ग, चवर्ग, टवर्ग, तवर्ग तथा पवर्ग के सभी व्‍यंजन स्‍पर्श व्‍यंजन कहलाते हैं । स्‍पर्श व्‍यंजन के अंतर्गत 25 व्‍यंजन आते हैं, जो नीचे दिया गया है :

कवर्ग : क ख ग घ ड. 

चवर्ग : च छ ज झ ञ 

टवर्ग : ट ठ ड ढ ण 

तवर्ग : त थ द ध न 

पवर्ग : प फ ब भ म


अंतस्‍थ वर्ण व्‍यंजन :

यवर्ग को अंतस्‍थ वर्ण व्‍यंजन कहते हैं । इसमें कुल चार व्‍यंजन आते हैं यथा : य र ल व 


ऊष्‍म वर्ण व्‍यंजन : 

शवर्ग को ऊष्‍म वर्ण व्‍यंजन कहते हैं । ऊष्‍म व्‍यंजन में भी कुल चार व्‍यंजन आते हैं यथा : श ष स ह


संयुक्‍त वर्ण व्‍यंजन : 

क्ष वर्ग को संयुक्‍त वर्ण व्‍यंजन कहते हैं । संयुक्‍त व्‍यंजन में भी कुल चार व्‍यंजन आते हैं  यथा : क्ष त्र ज्ञ श्र 

शब्‍द संयुक्‍त का अर्थ होता है एक से अधिक का जुड़ना, अर्थात हर संयुक्‍त वर्ण में एक से अधिक वर्ण मिले होते हैं जैसे : 

क्ष में संयुक्‍त वर्ण : क् + ष

त्र में संयुक्‍त वर्ण : त् + र 

 ज्ञ में संयुक्‍त वर्ण : ज् + ञ 

श्र में संयुक्‍त वर्ण : श् + र 

उपरोक्‍त से यह स्‍पष्‍ट है कि क्ष त्र ज्ञ श्र में एक से अधिक व्‍यंजन का समावेश होता है, इसलिए इन व्‍यंजनों को संयुक्‍त व्‍यंजन कहते हैं । 


अतिरिक्‍त वर्ण व्‍यंजन : 

हिंदी वर्णमाला में दो नए वर्णों को जोड़े गये है जो अतिरिक्‍त व्‍यंजन कहलाते हैं यथा : ड़ एवं ढ़ 


उपरोक्‍त से हमें यह ज्ञात होता है कि हिंदी वर्णमाला में ( Alphabet in Hindi) में व्‍यंजनों की कुल संख्‍या 39 होता है जिसमें स्‍पर्श व्‍यंजन, अंतस्‍थ व्‍यंजन, ऊष्‍म व्‍यंजन, संयुक्‍त व्‍यंजन एवं अतिरिक्‍त व्‍यंजन क्रमश: ( 25 + 4 + 4 + 4 + 2 = 39 ) होते हैं ।  जिसे एक बार पुन: हिंदी वर्णमाला ( Alphabet in Hindi) के कुल व्‍यंजनों को नीचे  दिए गए हैं :

कवर्ग ड़
चवर्ग
टवर्ग
तवर्ग
पवर्ग
अंतस्‍थ वर्ण व्‍यंजन :
ऊष्‍म वर्ण व्‍यंजन :
संयुक्‍त वर्ण व्‍यंजन : क्ष त्र ज्ञ श्र
अतिरिक्‍त वर्ण व्‍यंजन : ड़ ढ़


स्‍वर वर्ण किसे कहते हैं तथा कितने प्रकार के होते हैं? 

स्वर वर्ण वैसे वर्ण को कहते हैं जिसके उच्‍चारण करने के लिए किसी अन्‍य वर्णों की सहायता न लेना पड़े । दूसरे शब्‍दों में कहे तो स्वतंत्र रूप से बोले जाने वाले वर्ण को स्वर कहते हैं । जैसे अ, आ, ई इत्‍यादि ।

व्‍याकरण के अनुसार शुद्ध रूप से हिन्दी वर्णमाला में (Alphabet in hindi) ग्यारह स्वर होते हैं यथा : अ, आ, इ, ई, उ, ऊ, ऋ, ए, ऐ, ओ, औ

स्‍वर वर्ण को मुख्‍यत: दो भागों में बांटा गय है जो निम्‍न हैं : 

1. हृस्‍व स्‍वर

2. दीर्घ स्‍वर 


हृस्‍व स्‍वर : 

वैसे स्‍वर जिसके उच्‍चारण करने में कम समय व धीरे से बोले जाने वाले स्‍वर को हृस्‍व स्‍वर या छोटी स्‍वर कहते हैं । छोटी स्‍वर चार होते है यथा : अ, ई, उ, ऋ 


दीर्घ स्‍वर : 

वैसे स्‍वर जिसके उच्‍चारण करने में अधिक समय व तेज ध्‍वनि में बोले जाने वाले स्‍वर को दीर्घ स्‍वर या बड़ी स्‍वर कहते हैं । बड़ी स्‍वर 7 होते है जैसे : आ, ई, ऊ, ए, ऐ, ओ, औ 

इस प्रकार हिंदी वर्णमाला (Hindi Alphabet) में स्‍वर वर्ण की कुल संख्‍या 11 होते हैं जो पुन: नीचे दिया गया है : 

स्‍वरो की कुल संख्‍या


इसके अतिरिक्‍त अं और अ: को भी स्‍वर समूह के साथ रखा जाता है, जो मूल रूप से न तो स्‍वर होते हैं और न व्‍यंजन । उनको हम आयोगवाह कहते हैं ।


इस प्रकार हम देखते हैं कि हिंदी वर्णमाला में (Alphabet in Hindi) कुल वर्णो की संख्‍या 52 होते हैं जिसमें व्‍यंजन वर्ण समूह, स्‍वर वर्ण समूह तथा आयोगवाह क्रमश: (39 + 11 + 2 = 52 ) होते हैं ।

  हिंदी वर्णमाला (Alphabet in Hindi) से संबंधित महत्‍वपूर्ण  प्रश्‍नोत्‍तरी

Q1.वर्णमाला में वर्णो की कुल संख्‍या कितनी होती है?

क. 50
ख. 48
ग. 52
घ. 51




Q2. वर्णमाला में व्‍यंजनों की कुल संख्‍या कितनी होती है?

क.35
ख. 32
ग. 39
घ. 31



Q3. व्‍यंजनमाला में व्‍यंजनों को कितने भागों में बांटा गया है?

क. 2
ख. 3
ग. 4
घ. 5




Q4. स्‍पर्श व्‍यंजन की कुल संख्‍या कितनी होती है?

क. 20
ख. 30
ग. 40
घ. 25




Q5. संयुक्‍त व्‍यंजन कितने होते हैं?

क. 2
ख. 3
ग. 4
घ. 5




Q6. अतिरिक्‍त वयंजन कितने होते हैं?

क. 2
ख. 3
ग. 4
घ. 5




Q7. इनमें से कौन सा वर्ण आयोगवाह कहलाते हैं?

क. अ
ख. ई
ग. ड़
घ. अ:




Q8. सबसे कठिन स्‍वर कौन सा है?

क. अ
ख. ऐ
ग. औ
घ. ऋ




Q9. हिंदी वर्णमाला में हृस्‍व स्‍वर या छोटी स्‍वर कितने होते हैं?

क. 2
ख. 3
ग. 1
घ. 4




Q10. सबसे कठिन स्‍वर कौन सा है?

क. अ
ख. ऐ
ग. औ
घ. ऋ




Q11# संयुक्‍त वर्ण ‘क्ष’ में निम्‍न में किन वर्णो का समावेश होता है?
क. श् + र
ख. ज् + ञ
ग. त् + र
घ. क् + ष




Q12# संयुक्‍त वर्ण ‘त्र’ में निम्‍न में किन वर्णो का समावेश होता है?
क. श् + र
ख. ज् + ञ
ग. त् + र
घ. क् + ष




Q13# संयुक्‍त वर्ण ‘ज्ञ’ में निम्‍न में किन वर्णो का समावेश होता है?
क. श् + र
ख. ज् + ञ
ग. त् + र
घ. क् + ष




Q14# संयुक्‍त वर्ण ‘श्र’ में निम्‍न में किन वर्णो का समावेश होता है?
क. श् + र
ख. ज् + ञ
ग. त् + र
घ. क् + ष




Q15# हिंदी वर्णमाला में निम्‍न में से कौन अतिरिक्‍त वर्ण कहलाता है?
क. ड़
ख. ढ़
ग. क व ख दोनो
घ. सिर्फ क



अंत में,  अत: आप भलीभांति जान गए हैं कि हिंदी वर्णमाला (Alphabets in Hindi) में कुल वर्णो की संख्‍या 52 होती है, जो इस प्रकार हैं: 

हिंदी वर्णमाला Hindi alphabet in English 

कवर्ग क  K ख  Kh ग  G घ  Gh ड़  NG
चवर्ग च  Chछ  Chhज  J झ  Jhञ  Yn
टवर्ग ट T ठ Th ड D ढ Dh ण N
तवर्ग त T थ Th द D ध Dh न N
पवर्ग प P फ Ph ब B भ Bh म M
अंतस्‍थ वर्ण व्‍यंजन : य Y र R ल L व V
ऊष्‍म वर्ण व्‍यंजन : श Shष Shस Sह H
संयुक्‍त वर्ण व्‍यंजन : क्ष Ksh त्र Tr ज्ञ Jyn श्र Shr
अतिरिक्‍त वर्ण व्‍यंजन : ड़ D ढ़ Dh
हृस्‍व स्‍वर अ A इ I उ U ऋ Ri
दीर्घ स्‍वर आ Aaई Eeऊ Ooए Eऐ Aiओ Oऔ Au
आयोगवाह : अं An अ: Ah

अत: आशा है कि आपको हिंदी वर्णमाला Hindi Alphabet से संबंधित सभी प्रश्‍नों का जवाब मिल गया होगा और आपको यह हिंदी वर्णमाला Alphabet in hindi से संबंधित आर्टिकल पसंद आया होगा । अगर आप उपरोक्‍त से संबंधित कुछ कहना चाहते हैं या बताना चाहते हैं या कुछ गलती रह गयी हो तो अपना बहुमूल्‍य समय निकालकर कामेंट जरूर करें ।

Reactions

Post a Comment

0 Comments