GK on Supreme Court of India I Chief Justice of India

Polity of India in hindi में आज gkforyou.com अपने पाठको के समक्ष Supreme court of india, Chief Justice of india, सर्वोच्‍च न्‍यायालय प्रश्‍नोत्‍तरी से संबंधित gk questions in hindi, gk in hindi, gk in hindi 2019 को एकत्र कर प्रकाशित कर रहा है । इस आर्टिकल में आप supreme court of india related gk questions in hindi से संबंधित प्रश्‍न जैसे Chief Justice of india, current chief justice of india, first woman judge of india, current cji of india, chief justice of india salary, सर्वप्रथम सर्वोच्‍च न्‍यायालय की स्‍थापना, उच्‍चतम न्‍यायालय के न्‍यायाधीशें की सेवानिवृत्ति की आयु, भारत के किस मुख्‍य न्‍यायाधीश ने राष्‍ट्रपति के रूप में कार्य किया है इत्‍यादि को पढ़ेंगे ।
supreme-court-of-india

दोस्‍तों, चाहे किसी प्रकार के प्रतियोगिता परीक्षा हो उसमें सर्वोच्‍च न्‍यायालय प्रश्‍नोत्‍तरी से संबंधित प्रश्‍न अवश्‍य पूछा जाता है, अत: प्रतियोगिता परीक्षाओं में जो प्रश्‍न बार-बार पूछे जाते हैं, उन प्रश्‍नों को एकत्र कर Gk quizGK questions in hindi with answer फार्मेट में पेश कर रहा हूं, जो कि आपके आगामी परीक्षाओं में जरूर सहायक होगा :

GK Quiz on Supreme Court of India


1. उच्‍चतम न्‍यायालय के न्‍यायाधीशों की सेवानिवृति की आयु कितनी है:
a. 65 वर्ष
b. 55 वर्ष
c. 60 वर्ष
d. 58 वर्ष



51 Most Important GK Questions and answer related to all PM of India

2. भारत में न्‍यायपालिका है:
a. स्‍वतंत्र
b. संसद के अधीन
c. राष्‍ट्रपति के अधीन
d. प्रधानमंत्री के अधीन






3. सर्वोच्‍च न्‍यायालय के प्रथम मुख्‍य न्‍यायाधीश कौन थे :
a. हीरालाल जे. कानिया
b. के. सुब्‍बाराव
c. कमल नारायण सिंह
d. एच.एच. बेग



4. संविधान का व्‍याख्‍या करने का अंतिम अधिकार किसे प्राप्‍त है :
a. लोकसभाध्‍यक्ष
b. राष्‍ट्रपति
c. अटार्नी जनरल आफ इंडिया
d. सर्वोच्‍च न्‍यायालय



5. सर्वोच्‍च न्‍यायालय के मुख्‍य न्‍यायाधीश को प्रतिमाह कितना सेलरी मिलता है :
a. 2.80 लाख
b. 1.80 लाख
c. 3.80 लाख
d. 4.80 लाख


उम्‍मीद है कि आपने उपरोक्‍त सभी पांच प्रश्‍नों का उत्‍तर सही दिए होंगे, तो अब चलिए पढ़ते हैं Supreme court of india related gk questions with answer के 55 महत्‍वपूर्ण प्रश्‍न - उत्‍तर विवरण सहित :

GK in hindi on Supreme Court of India


1. भारतीय संविधान के किस भाग में संघीय न्‍यायापालिका का उल्‍लेख है : 
उत्‍तर- भाग-5 में 
· भारत का सर्वोच्च न्यायालय भारतीय संविधान के भाग 5 के अध्याय 4 के तहत स्थापित किया गया है। 


2. सर्वोच्‍च न्‍यायालय का गठन का प्रावधान संविधान के किस अनुच्‍छेद में वर्णित है : 
उत्‍तर- अनुच्‍छेद- 124 
·भारतीय संविधान के अनुच्छेद 124 से 147 तक उच्चतम न्यायालय की संरचना एवंअधिकार क्षेत्रों का वर्णन किया गया है । 



3. भारत के सर्वोच्‍च न्‍यायालय कहां स्थित है: 
उत्‍तर- दिल्‍ली में 
· सर्वोच्‍च न्‍यायालय भारत की राजधानी नई दिल्ली में तिलक रोड मेंबनाया गया है। इसका डिजाइन केन्द्रीय लोक निर्माण विभाग के प्रथम भारतीय अध्यक्ष गणेश भीकाजी देवलालीकर ने इंडो-ब्रिटिश स्थापत्य शैली में किया था। 



4. संविधान के व्‍याख्‍याकार और संरक्षक कौन होता है : 
उत्‍तर- सर्वोच्‍च न्‍यायालय 



5. भारत में सर्वप्रथम सर्वोच्‍च न्‍यायालय की स्‍थापना किसके अंतर्गत हुई : 
उत्‍तर- रेग्‍युलेटिंग अधिनियम-1773 
· रेग्‍युलेटिंग एक्‍ट’1773 के तहत 1774 ई. में फोर्ट विलियाम, कलकता में एक सुप्रीम कोर्ट की स्‍थापना की गयी जिसमें एक मुख्‍य न्‍यायाधीश सहित तीन अन्‍य न्‍यायाधीश का प्रावधान किया गया है । कलकत्‍ता उच्‍चतम न्‍यायालय का मुख्‍य न्‍यायाधीश सर एलीजा इम्‍पी व चेम्‍बर्ज, लिमैस्‍टर एवं हाइड को अन्‍य न्‍यायाधीश नियुक्‍त हुए । इस न्‍यायालय का कार्य क्षेत्र बंगाल, बिहार व ओडिशा तक सीमित था ।



6. भारत के सर्वोच्‍च न्‍यायालय की स्‍थापना हुई थी :
उत्‍तर- भारत सरकार अधिनियम 1935 के अधीन 
· भारत सरकार अधिनियम 1935 के अधीन 1 अक्टूबर 1937 को भारत में संघीय न्यायालय (Federal Court of India) की स्‍थापना की गई जो दिल्‍ली के संसद भवन में चैंबर आफ प्रिंसेस में कार्यवाही होती थी । इसके पहले मुख्‍य न्‍यायाधीश सर मौरिस ग्‍वेर व दो अन्‍य न्‍यायाधीश सर शाह मुहम्मद सुलेमान व एम आर जयकर थे । यह भारत के सर्वोच्च न्यायालय की स्थापना 28 जनवरी 1950 तक कार्य किया । 



7. सर्वोच्‍च न्‍यायालय का गठन कब हुआ था : 
उत्‍तर- 26 जनवरी 1950 को 
· सर्वोच्‍च न्‍यायालय का गठन 26 जनवरी 1950 हुआ था लेकिन भारत के गणराज्य बनने के दो दिन बाद अर्थात 28 जनवरी1950 को कार्य करना प्रारंभ किया था । इसका उद्घाटन समारोह का आयोजन संसद भवन के नरेंद्रमण्डल(चेंबर ऑफ़ प्रिंसेज़) भवन में किया गया था 
· इससे पूर्व भी 1937 से 1950 तक चैंबर आफ प्रिसेस ही भारत की संघीय अदालत का भवन था । 



8. मूल रूप से संविधान में सर्वोच्‍च न्‍यायालय के मुख्‍य न्‍यायाधीश के अतिरिक्‍त कितने न्‍यायधीश की व्‍यवस्‍था की गई थी : 
उत्‍तर- सात 
· उच्‍चतम नयायालय में मुख्‍य न्‍यायाधीश सहित 8 न्‍यायाधीशों की व्‍यवस्‍था संविधान में की गई थी लेकिन बाद में काम के दबाव को देखते हुए संविधान संशोधन कर न्‍यायाधीशों की संख्‍या को बढ़ता गया । 



9. वर्तमान में सर्वोच्‍च न्‍यायालय में मुख्‍य न्‍यायाधीश के अतिरिक्‍त कितनेन्‍यायाधीश का प्रावधान किया गया है: 
उत्‍तर- 30 
·केंद्र सरकार ने 21 फरवरी 2008ई. को सर्वोच्‍च न्‍यायालय में मुख्‍य न्‍यायाधीश के अतिरिक्‍त न्‍यायाधीशों की संख्‍या 25 से बढ़ाकर 30 कर दिया गया था । 


10. सर्वोच्‍च न्‍यायालय के न्‍यायधीशों के लिए कौन-सी अर्हता होनी चाहिए: 
उत्‍तर- सर्वोच्‍च न्‍यायालय के न्‍यायधीशों की अर्हता निम्‍न है : 
· वह किसी एक या अधिक उच्‍च न्‍यायालयों में लगातार कम से कम 5 वर्ष तक न्‍यायाधीश के रूप में कार्य कर चुका हो । 
·वह किसी एक या अधिक उच्‍च न्‍यायालयों में लगातार 10 वर्षों तक अधिवक्‍ता रहा हो या वह एक पारंगत विधिवेत्‍ता हो 


11. उच्‍चतम न्‍यायालय के न्‍यायाधीशें की सेवानिवृत्ति की आयु कितनी होती है : 
उत्‍तर- 65 वर्ष 
· उच्‍चतम न्‍यायालय के न्‍यायाधीश बनने के लिए न्‍यूनतम आयु की सीमा निर्धारित नहीं है लेकिन इनके अवकाश ग्रहण करने की आयु-सीमा 65 वर्ष है । 


12. उच्‍चतम न्‍यायालय के न्‍यायाधीशें की सेवानिवृत्ति के बाद वह किस न्‍यायालय में वकालत कर सकता है :  उत्‍तर- किसी भी न्‍यायालय में नहीं 
· उच्‍चतम न्‍यायालय के न्‍यायाधीश की सेवानिवृति के बाद भारत में किसी भी न्‍यायालय में या किसी भी अधिकारी के सामने वकालत नहीं कर सकते हैं । Read Wildlife Sanctuary And National Park In India



13. सर्वोच्‍च न्‍यायालय के मुख्‍य न्‍यायाधीश की नियुक्ति कौन करता है : 
उत्‍तर- राष्‍ट्रपति 
· भारत के कार्यवाहक मुख्‍य न्‍यायाधीश की नियुक्ति राष्‍ट्रपति करता है। इसका उल्‍लेख अनुच्‍छेद-126 में की गई है । 
· भारतीय संविधान में तदर्थ न्‍यायाधीशों की नियुक्ति का प्रावधान सर्वोच्‍च न्‍यायालय, उच्‍च न्‍यायालय, जनपद एवं सत्र न्‍यायालयों सभी में प्रावधान है । 
· यदि न्‍यायालय के किसी सत्र के लिए न्‍यायाधीशों का कोरम(गण्‍पुर्ति) नहीं होता है तब सर्वोच्‍च न्‍यायालय में तदर्थ न्‍यायाधीश की नियुक्ति होती है। इसकी नियुक्ति राष्‍ट्रपति से अनुमति प्राप्‍त करने के पश्‍चात्‍य सर्वोच्‍च न्‍यायालय के मुख्‍य न्‍यायाधीश कर सकता है। 


14. सर्वोच्‍च न्‍यायालय के तदर्थ न्‍यायाधीशों की नियुक्ति किस अनुच्‍छेद के तहत की जाती है : 
उत्‍तर- अनुच्‍छेद-127 
· संविधान के अनुच्‍छेद-127 के तहत यदि किसी समय सर्वोच्‍च न्‍यायालय के सत्र को आयोजित करने या चालू रखने के लिए न्‍यायाधीशों की गणपूत्रि न हो तो राष्‍ट्रपति की सहमति से भारत के मुख्‍य न्‍यायाधीश संबंधित उच्‍च न्‍यायालय के मुख्‍य न्‍यायाधीश से परामर्श से, उस अवधि के लिए जितनी आवश्‍यक हो तो तदर्थ न्‍यायाधीश की नियुक्ति कर सकती है । 



15. सर्वोच्‍च न्‍यायालय के अन्‍य न्‍यायाधीश की नियुक्ति कौन करता है : 
उत्‍तर- सर्वोच्‍च न्‍यायालय के मुख्‍य न्‍यायाधीश के परामर्श से राष्‍ट्रपति 


16. उच्‍चतम न्‍यायालय के न्‍यायाधीशों को पद एवं गोपनीयता की शपथ कौन दिलाता है : 
उत्‍तर-राष्‍ट्रपति 


17. सर्वोच्‍च न्‍यायालय में तदर्थ न्‍यायाधीशों की नियुक्ति किस देश की न्‍याय प्रणाली से प्रेरित है : 
उत्‍तर- फ्रांस 


18. सर्वोच्‍च न्‍यायालय के न्‍यायाधीशों को उसके पद से केवल किन आधारों पर हटाया जा सकता है : 
उत्‍तर-कदाचार और असमर्थता के आधार पर 
· सर्वोच्‍च न्‍यायालय के न्‍यायाधीशों को कदाचार और असमर्थता के प्रमाणित होने के पश्‍चात्‍य संसद में महाभियोग का प्रस्‍ताव पारित किया जाता है । संसद के दोनों सदनों द्वारा दो-तिहाई बहुमत से पारित प्रस्ताव के आधार पर ही राष्ट्रपति द्वारा हटाया जा सकता है। पढ़े भारत के पडोसी देश एवं भारत के विस्तार पार्ट-१ 


19. सर्वोच्‍च न्‍यायालय के न्‍यायाधीश के विरूद्ध महाभियोग का प्रस्‍ताव पारित हो जाने पर पदच्‍युति का आदेश कौन जारी कर सकता है : 
उत्‍तर- राष्‍ट्रपति 


20. सर्वोच्‍च न्‍यायालय के किस न्‍यायाधीश के विरूद्ध 11 मई 1993 को लोकसभा में लाया गया महाभियोग प्रस्‍ताव असफल रहा था : 
उत्‍तर- न्‍यायामूर्ति वी. रामास्‍वामी 


21. सर्वोच्‍च न्‍यायालय के मुख्‍य न्‍यायाधीश को प्रतिमाह कितना वेतन मिलता है : 
उत्‍तर-2.80 लाख 
· सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश का मासिक वेतन: 2.80 लाख 
· सुप्रीम कोर्ट के जज और हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश का वेतन : 2.50 लाख 
· हाईकोर्ट केजजों का वेतन :2.25 लाख 


22. जब राष्‍ट्रपति और उपराष्‍ट्रपति दोनों का पद खाली हो, तब राष्‍ट्रपति का कार्य कौन करेगा: 
उत्‍तर- भारत के मुख्‍य न्‍यायाधीश 


23. भारत के किस मुख्‍य न्‍यायाधीश ने राष्‍ट्रपति के रूप में कार्य किया है : 
उत्‍तर- जस्टिस एम. हिदायतुल्‍ला 
· मोहम्मद हिदायतुल्लाह 25 फरवरी 1968 से 16 दिसंबर 1970 तक भारत के 11 वें मुख्य न्यायाधीश थे तथा भारत के छठे उपराष्ट्रपति 31 अगस्त 1979 से 30 अगस्त 1984 तक थे । 
· वे दो बार 20 जुलाई 1969 से 24 अगस्त 1969 तक तथा 6 अक्टूबर 1982 से 31 अक्टूबर 1982 तक भारत के कार्यवाहक राष्ट्रपति थे । 


24. सर्वोच्‍च न्‍यायालय के अधिकार क्षेत्र में वृद्धि करने का अधिकार किसे प्राप्‍त है : 
उत्‍तर- संसद 


25. सर्वोच्‍च न्‍यायाल में न्‍यायिक काम-काज के लिए किस भाषा का प्रयोग किया जाता है: 
उत्‍तर- अंग्रेजी 


26. सर्वोच्‍च न्‍यायालय किस संस्‍था का निरीक्षण कर सकता है: 
उत्‍तर- अधीनस्‍थ न्‍यायालयों की 


27. भारत में न्‍यायापालिका किसके अधीन कार्यरत है : 
उत्‍तर- किसी के अधीन नहीं, स्‍वतंत्र है। 


28. भारत में न्‍यायपालिका का स्‍वरूप है: 
उत्‍तर- एकीकृत 
· भारत में न्‍यायपालिका व्‍यवस्‍था इकहरी और एकीकृत है । 


29. राष्‍ट्रपति और उपराष्‍ट्रपति के निर्वाचन के विवाद के मामलों को निपटारा कौन कर सकता है : 
उततर- भारत के सर्वोच्‍च न्‍यायालय 


30. राष्‍ट्रपित कानून मामलों में किससे परामर्श ले सकता है : 
उत्‍तर-भारत के सर्वोच्‍च न्‍यायालय 


31. उच्‍चतम न्‍यायालय को परामर्शदात्री बनाया गया है : 
उततर-अनुच्‍छेद -143 
· राष्ट्रपति अनुच्‍छेद -143 के तहत उच्चतम न्यायालय से सलाह ले सकता है । 


32. न्‍यायिक पुनर्राविलोकन का अधिकार किसे है : 
उत्‍तर- उच्‍चतम न्‍यायालय को 
· उच्‍चतम न्‍यायालय के न्‍यायिक पुनरीक्षण कार्य का आशय कानूनों की सांविधानिक वैद्यता का पुनरीक्षण 


33. भारतीय न्‍यायपालिका में लोकहित मुकदमा (Public Interest Litigation) लाया गया था, तब भारत के मुख्‍य न्‍यायाधीश कौन थे : 
उत्‍तर- पी.एन. भगवती 


34. जनहित याचिका दायर की जा सकती है: 
उत्‍तर-उच्‍च न्‍यायालय एवं सर्वोच्‍च न्‍यायालय दोनों में 
· जनहित याचिका सीधे भारत के सर्वोच्च न्यायालय एवं भारत के उच्च न्यायालयों एक व्यक्ति या समूह द्वारा दायर की जाती है। 


35. सर्वोच्‍च न्‍यायालय कितने प्रकार के प्रलेख जारी कर सकते हैं : 
उत्‍तर- 5 
· भारत का सर्वोच्‍च न्‍यायालय मौलिक अधिकारों का रक्षक है, मौलिक अधिकारों को लागू कराने के लिए सर्वोच्च न्यायालय अनुच्‍छेद-139 के तहत पांच तरह के रिट बंदी प्रत्यक्षीकरण , परमादेश, प्रतिषेधलेख, उत्प्रेषण, अधिकार पृच्छा लेख जारी कर सकता है। Read GK Questions Related to Dam of India


36. लाभ का पद परिभाषित हुआ है : 
उत्‍तर- सर्वोच्‍च न्‍यायालय द्वारा 
· संविधान के अनुच्छेद 102 (1) (ए) के तहत सांसद या विधायक ऐसे किसी अन्य पद पर नहीं हो सकते, जहां वेतन, भत्ते या अन्य दूसरी तरह के फायदे मिलते हों। इसके अलावा संविधान के अनुच्छेद 191 (1) (ए) और जनप्रतिनिधित्व कानून की धारा 9 (ए) के तहत भी सांसदों और विधायकों को अन्य पद लेने से रोकने का प्रावधान है। 


37. भारतीयसंविधान का कौन सा अनुच्‍छेद संवैधानिक विवाद में सर्वोच्‍च न्‍यायालय के अपीलीय क्षेत्राधिकार से संबंधित है : 
उत्‍तर- अनुच्‍छेद 134ए को मिलाकर अनुच्‍छेद 132 को पढ़ना 


38. केंद्र और राज्‍यों के बीच होने वाले विवादों का निर्णय करने को भारत के उच्‍चतम न्‍यायलय की शक्ति आती है : 
उत्‍तर- इसकी मूल अधिकारिता के अंतर्गत 



39. किस वाद में उच्‍चतम न्‍यायालय ने संविधान के मूल ढांचे का सिद्धांत प्रतिपादित किया था : 
उत्‍तर- केशवानंद भारती 
· केशवानंद भारती बनाम केरल राज्यवाद भारत के सर्वोच्च न्यायालय का एक ऐतिहासिक निर्णय है जिसने संविधान के मूल संरचना सिद्धांत को रेखांकित किया है अर्थात संविधान संशोधन के अधिकार पर एकमात्र प्रतिबंध है कि इसके माध्यम से संविधान के मूल ढांचे को क्षति नहीं पहुंचनी चाहिए । इस निर्णय में गोलकनाथ बनाम पंजाब राज्य के निर्णय को निरस्त कर दिया गया था । 
· केशवानंद भारती बनाम केरल मामले की सुनवाई 68 दिनों तक चली, 31 अक्टूबर 1972 को शुरू हुई दलीलें और 23 मार्च 1973 को समाप्त हुईं। इस मामले की सुनवाई 13 जजों की अब तकसबसे बड़ी संविधान पीठ ने की थी । 

GK in hindi on CJI of India


40. सर्वोच्‍च न्‍यायलय के प्रथम मुख्‍य न्‍यायाधीश कौन थे : 
उत्‍तर- हीरालाल जे. कनिया 
· हीरालाल जे. कनिया26 जनवरी 1950 - 6 नवंबर 1951 तक स्‍वतंत्र भारत के पहले मुख्य न्यायाधीश थे। 6 नवम्बर 1951 को 61 साल के उम्र में इनकी मृत्‍यु हो गई थी । 


41. सर्वोच्‍च न्‍यायालय के मुख्‍य न्‍यायाधीश के पद पर सबसे कम समय तक कौन आसीन रहा है : 
उत्‍तर- कमल नारायण सिंह 
· कमल नारायण सिंह 25 नवंबर, 1991 से 12 दिसंबर, 1991 तक भारत के मुख्य न्यायाधीश थे । 


42. सर्वोच्‍च न्‍यायालय के मुख्‍य न्‍यायाधीश के पद पर सबसे अधिक समय तक कौन आसीन रहा है : 
उत्‍तर-वहाई. वी. चंद्रचूड़ 
· वे सर्वोच्‍च न्‍यायालय में सबसे लंबे समय तक 7 साल और 4 महीने मुख्य न्यायाधीशकार्यरत रहे हैं । इनका उपनाम आइरन हैंड था । 


43. किस एक मात्र मुख्‍यन्‍यायाधीश ने भारत के कार्यकारी राष्‍ट्रपति के रूप में कार्य किया है : 
उत्‍तर- एच.एम. हिदायतुल्‍ला 
· एच.एम. हिदायतुल्‍ला ने 20 जुलाई 1969 से 24 अगस्‍त 1969 तक भारत के कार्यवाहक राष्‍ट्रपति के रूप में कार्य किए हैं ।वाद में उपराष्‍ट्रपति बने थे । 


44. सर्वोच्‍च न्‍यायालय के प्रथम मुस्लिम मुख्‍य न्‍यायाधीश कौन थे
उत्‍तर- मोहम्‍मद हिदायतुल्‍ला 
Read ALL Nobel Prize Winner 2018 in details


45. वर्ष 1973 में सर्वोच्‍च न्‍यायालय के किस मुख्‍य न्‍यायाधीश की नियुक्ति के समय प्रथागत वरिष्‍ठता के सिद्धांत को पहली बार त्‍यागा गया था : 
उत्‍तर- ए.एन. रे 


46. उच्‍चतम न्‍यायालय की पहली महिला न्‍यायाधीश कौन थीं : 
उत्‍तर- फातिमा बीबी 
· 1989 में भारत के सुप्रीम कोर्ट पहली महिला न्‍यायाधीश बनने के साथ पहली मुस्लिम महिला न्‍यायाधीश थीं ।बाद में 1997 से 2001 तक भारतीय राज्य तमिलनाडु के राज्यपाल बनीं थीं । 


47. संविधान का व्‍याख्‍या करने का अंतिम अधिकार किसे प्राप्‍त है : 
उत्‍तर- सर्वोच्‍च न्‍यायालय 


48. कौन-सा अनुच्‍छेद सर्वोच्‍च न्‍यायालय को अभिलेख न्‍यायालय का स्‍थान प्रदान करता है : 
उत्‍तर- अनुच्‍छेद’129 



49. जब राष्‍ट्रपति एवं उपराष्‍ट्रपति का पद खाली हो, तो भारत के राष्‍ट्रपति के पद पर कौन कार्य करता है: 
उत्‍तर- भारत के मुख्‍य न्‍यायाधीश 


50. भारतीय न्‍यायायिक पद्धति में लोकहित मुकदमा (PIL) लाया गया तब भारत के मुख्‍य न्‍यायामूर्ति कौन थे : 
उत्‍तर- पी.एन. भगवती 


51. भारत में उच्‍चतम न्‍यायालय में न्‍यायाधीशों की संख्‍या बढ़ाने का अधिकार किसके पास होता है : 
उत्‍तर- भारत की संसद के पास 


52. सर्वोच्‍च न्‍यायालय के न्‍यायाधीशों का वेतन किससे आहरित होता है: 
उत्‍तर- संचित निधि से 
· भारतीय संविधान के अनुच्छेद-266 के अंतर्गत संचित निधि स्‍थापित की गई है । संचित निधि वैसी निधि है जिसमें सरकार को सभी प्रकार से प्राप्‍त कर/राजस्व जमा, बाजार से लिये गये ऋण व दिए गए ऋण पर प्राप्‍त ब्‍याज जमा किये जाते है । यह भारत की सबसे बड़ी निधि है, जो कि संसद के अधीन रखी गई है ,सद की पूर्व स्वीकृति के इस निधि से कोई भी धन निकाला/जमा या भारित नहीं किया जा सकता है ।इससे व्‍यय धन का जांच महालेखा परीक्षक द्वारा की जाती है। 


53. सुप्रीमकोर्ट के प्रथम दलित न्‍यायाधीश एवं मुख्‍य न्‍यायाधीश कौन थे : 
उत्‍तर- के.जी. बालकृष्‍णनन 
· के.जी. बालकृष्‍णनन सुप्रीम कोर्ट के 37वे मुख्य न्यायाधीश वकेरल राज्य सेबनने वाले पहले मुख्‍यन्यायाधीश थे ! मौर्य वंश से संबंधित 51 अति महत्‍वपूर्ण प्रश्‍नोत्‍तरी भाग-2 


54. सुप्रीमकोर्ट के प्रथम सिख न्‍यायाधीन कौन थे : 
उत्‍तर- जगदीश सिंह खेहर 44वें DOB: 28 august 1952 
· जस्टिस जगदीश सिंह खेहर अहलूवालिया भारत के 44 वें व सिख समुदाय से पहले मुख्य न्यायाधीश थे । 

55. स्‍वतंत्र भारत में जन्‍म लेने वाला सुप्रीमकोर्ट के प्रथम मुख्‍य न्‍यायाधीश कौन थे : 
उत्‍तर- सरोज होमी कपाडि़या 
· सरोज होमी कपाडि़या सर्वोच्‍च न्‍यायालय के पारसी समुदाय के बनने वाले प्रथम मुख्‍यन्‍यायाधीश थे । इनका जन्‍म 29 September, 1947 को हुआ था ।


56. सर्वोच्‍च न्‍यायालय के वर्तमान  मुख्‍य न्‍यायधीश कौन है : 
उत्‍तर-जस्टिस रंजन गोगोई 
· जस्टिस रंजनगोगोई 03 अक्टूबर 2018 को सुप्रीम कोर्ट के मुख्‍य न्‍यायाधीश के रूप में पदभार संभाला । वे सर्वोच्‍च न्‍यायालय के 46वें मुख्‍य न्‍यायाधीश हैं । वे पूर्वोत्तर भारत से बनानेवाले पहले मुख्य न्यायाधीश  है 
· जस्टिस रंजन गोगोई का कार्यकाल 17 नंवबर 2019 तक होगा । 
·फरवरी 2011 में जस्टिस रंजन गोगोई पंजाब व हरियाणा उच्च न्यायालय का मुख्य न्यायाधीश का पदभार भी संभाले थे ।
Daily GK Quiz, Daily Current Affairs Quiz, Reasoning & Math test, Most Important GK Questions with answer इत्‍यादि के लिए अपडेट व Website से जुड़े रहने के लिए हमारे सोशल मीडिया को Follow कर सकते हैं । 
Facebook Page:  Please Click here
Facebook GroupClick here
You tubeClick here

0 टिप्पणियाँ: