Ad Code

24 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है? 24 March Ko Kuan sa Divas Manaya Jata Hai

Aaj 24 March Ko Kaun sa Divas Manaya Jata Hai

24 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है? 24 March Ko Kuan sa Divas Manaya Jata Hai

प्रश्‍न # 24 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है?
विश्‍व मौसम विज्ञान दिवस
शहीद दिवस
विश्‍व क्षय दिवस
इनमें से कोई नहीं




1 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है?

2 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है?

3 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है?

4 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है?

5 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है?

6 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है?

7 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है?

8 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है?

9 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है?

10 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है?

11 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है?

12 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है

13 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है

14 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है

15 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है

16 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है

17 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है

18 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है

19 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है

20 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है

21 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है

22 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है

23 मार्च को कौन सा दिवस मनाया जाता है


विश्‍व क्षय दिवस कब मनाया जाता है? World Tuberculosis Day Kab Manaya Jata Hai

24 मार्च को हर वर्ष विश्‍व क्षय दिवस (World Tuberculosis Day) के रूप में मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने का उद्देश्‍य तपेदिक के बारे में जागरूक करना तथा वैश्विक मारामारी को खत्म करने के उपचार के बारे में किए गए प्रयासों को बढ़ाना है ।

24 मार्च को विश्‍व क्षय दिवस इसलिए मनाया जाता है क्‍योंकि इसी दिन बीमारी के बैक्टीरिया की पहचान हुई थी । डा. रॉबर्ट कोच ने आज के दिन ही 24 मार्च 1882 को यह ऐलान किया था कि उन्होंने माइकोबैक्टीरियम टुबरोक्लोसिस का पता लगाया जोकि इंसानों में क्षय रोग की बीमारी के लिए जिम्मेदार है । इसी कारण 24 मार्च को अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर पर विश्‍व क्षय दिवस यानी की विश्‍व तपेदिक दिवस के रूप में मनाया जाता है ।

टीबी यानी ट्यूबरक्‍युलोसिस बैक्टीरिया से होनेवाली बीमारी जो कि फेफड़ों को प्रभावित करता है । फेफड़ों के अलावा यह बीमारी ब्रेन, यूटरस, मुंह, लिवर, किडनी, गले आदि में भी हो सकती है। यह बीमारी हवा के जरिए एक इंसान से दूसरे इंसान में फैलती है। मरीज के खांसने और छींकने के दौरान मुंह-नाक से निकलने वालीं बारीक बूंदें इन्हें फैलाती हैं। ऐसे में मरीज के बहुत पास बैठकर बात की जाए तो भी इन्फेक्शन हो सकता है।


Reactions

Post a Comment

0 Comments