Ad Code

2022 में रक्षा बंधन कब है? 2022 Me Raksha Bandhan Kab Hai, राखी कब है? Rakhi Kab Hai

पर्व यानी की त्‍योहार की श्रृंखला में आज gkforyou.com अपने प्रिय पाठको के लिए 2022 में रक्षा बंधन कब है?  2022 Me Raksha Bandhan Kab Hai,  राखी कब है Rakhi Kab Hai के बारे में पूरे विवरण के साथ बताने जा रहा हूँ । इस आर्टिकल में Rakhi Kab Hai, नवरात्रि कब से चालू है Raksha Bandhan Kab Hai 2022 Mein  इत्‍यादि प्रश्‍नों का जानकारी प्राप्‍त होगी ।


तो चलित मुख्‍य शीर्षक की ओर और जानते है कि 2022 में रक्षा बंधन कब है?  2022 Me Raksha Bandhan Kab Hai,  राखी कब है Rakhi Kab Hai.

2022 में रक्षा बंधन कब है?  2022 Me Raksha Bandhan Kab Hai,  राखी कब है? Rakhi Kab Hai

2022 में रक्षा बंधन कब है?  2022 Me Raksha Bandhan Kab Hai,  राखी कब है? Rakhi Kab Hai

तो दोस्‍तो आपको बता दूं कि Raksha Bandhan Ka Parva यानी Rakhi Ka Parv हर साल हिंदू पंचांग के सावन पूर्णिमाा के दिन मनाया जाता है ।


रक्षा बंधन का महत्व Raksha Bandhan  Ka Mahatav

हिंदू पंचांग के अनुसार रक्षा बंधन हर वर्ष सावन मास की शुक्‍ल पक्ष की पूर्णमासी यानी की पूर्णिमा तिथि को मनाया जाता है । इस दिन को श्रावण पूर्णिमा या कजरी पूनम भी कहा जाता है । रक्षा बंधन का भाई-बहन के प्‍यार का प्रतीक है ।

इस दिन बहनें अपने भाइयों की कलाई में राखी बांधती है, मिठाई खिलाती है और भाई अपने बहन को रक्षा का बचन देता है और साथ में गिफ्ट देता है । अगर दूसरे शब्‍दों में कहें तो रक्षा बंधन भाई-बहन के एक पवित्र पर्व है ।

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार बात करें तो भविष्‍यपुराण में वर्णन है कि श्रावण पूर्णिमा के दिन इंद्र देवता और उनकी पत्नी इंद्राणी की प्रार्थना पर गुरु बृहस्पति ने इंद्र को रक्षा सूत्र बांधा था। इन्द्राणी द्वारा निर्मित रक्षासूत्र को देवगुरु बृहस्पति ने इन्द्र के हाथों बांधते हुए निम्नलिखित स्वस्तिवाचन किया था जो कि यह श्लोक रक्षाबन्धन का अभीष्ट मन्त्र है :

येन बद्धो बलिराजा दानवेन्द्रो महाबल:।
तेन त्वामपि बध्नामि रक्षे मा चल मा चल ॥

इस श्लोक का हिंदी में भावार्थ है- "जिस रक्षासूत्र से महान शक्तिशाली दानवेन्द्र राजा बलि को बाँधा गया था, उसी सूत्र से मैं तुझे बाँधता हूँ। हे रक्षे (राखी), तुम अडिग रहना (तू अपने संकल्प से कभी भी विचलित न हो।)"

एक और धार्मिक मान्यताओं के अनुसार श्रावण पूर्णिमा के माता लक्ष्मी ने बलि को राखी बांधकर अपना भाई बनाया था। मान्यता ये भी है कि इसी तिथि को द्रौपदी ने कृष्ण जी के हाथ पर लगी चोट पर अपनी साड़ी चीरकर पट्टी बांधी थी। इसी दौरान कृष्ण भगवान ने द्रौपदी को अपनी बहन मान लिया था।

रक्षा बंधन यानी राखी  का पर्व  2022 में कब है ?

जैसा आप सभी जानते है कि रक्षा बंधन हर वर्ष सावन मास की शुक्‍ल पक्ष की पुर्णिमा तिथ‍ि को ही मनाया जाता है । इस वर्ष सावन मास की पूर्णिमा तिथि 11 अगस्‍त को आ रहा है इसलिए इस साल यानी की 2022 में रक्षा बंधन 11 अगस्‍त 2022 , दिन गुरूवार को मनाया जाएगा ।

 

रक्षा बंधन यानी राखी पर्व 2022  का शुभ मुहूर्त कब  है? Raksha Bandhan - Rakhi  Ka Shubh Muhurat Kab Hai

इस वर्ष रक्षा बंधन 11 अगस्‍त, गुरूवार को मनाया जाएगा और राखी बांधने का शुभ मुहूर्त 09:28 बजे से 21:14 बजे तक यानी की कुल 12 घंटे 14 मिनट है । रक्षा बंधन 2022 का शुभ मुहूर्त का पूरा विवरण नीचे दिया गया है ।

सावन पूर्णिमा तिथि के प्रारंभ होने का समय 11 अगस्त 2022 को शाम 15:45 बजे.
सावन पूर्णिमा तिथि के समाप्त होने का समय 12 अगस्त 2022 को शाम 17:58 बजे.
रक्षा बंधन अनुष्ठान का समय सुबह 06:15 बजे से शाम 05:31 बजे तक
रक्षा बंधनके लिये अपराह्न का मुहूर्त दोपहर बाद 13 : 44 बजे से 16:23 बजे
रक्षा बंधन प्रदोष काल 20:08 बजे से 22:18 बजे
रक्षा बंधन 2022 शुभ मुहूर्त 09:28 बजे से 21:14 बजे तक

इसे भी पढ़े:  2022 में नवरात्रि कब से चालू है?
Reactions

Post a Comment

0 Comments